Search This Website

रविवार, 25 अक्तूबर 2020

आपका दैनिक राशिफल 19/02/2021

 आपका दैनिक राशिफल 19/02/2021

 यह बताना सुरक्षित है कि आप अपनी कुंडली के बारे में समय के लिए विचार कर रहे हैं?

 आपका दैनिक राशिफल

 और मत देखो।  आपका सबसे सटीक प्रत्येक दिन कुंडली कुछ टिक दूर है।  आज आपकी कुंडली में आपके लिए क्या है, यह समझने के लिए अपने सूर्य चिह्न पर टैप करें।  अपने दिन को योजनाबद्ध तरीके से तय करें और उन चीजों को चकमा दें जो आपके दिन के लिए शत्रुता हैं।

 सनकीपन को मारें और निर्विवाद रूप से जानें कि हमारे लगातार कुंडली अनुभाग के साथ आज क्या होना चाहिए।



 विश्वसनीय रूप से असाधारण है और नई परेशानियों और उपहारों के साथ जाता है, चुनौतियों और आज होने वाली तैयारियों के लिए अपनी वर्तमान कुंडली की जांच की।


 सटीक रूप से जब आप प्रगति के लिए फड़फड़ाते हैं, तो प्रत्येक दिन जांच करता है।  अपने दिन के हिसाब से हासिल करने के लिए अपनी लगातार कुंडली पर बने रहें।  प्रत्येक उत्पादक आदमी के पास एक अलग सेरेब्रम और दिल होता है जो उसकी आउटिंग के माध्यम से होता है।  अपने व्यायामों की जाँच करके और दिन की योजना बनाकर बुल की आंख को मारो।  लगातार हमारे प्रेमी और निष्पक्ष कुंडली के साथ अपने दिन के बारे में अपने सहयोगियों या जानेमन को रोशन करना सुनिश्चित करें।


 हर राशि चक्र के लिए सटीक दैनिक राशिफल



 यह जानने की जरूरत है कि आपके लिए आने वाला दिन कैसा रहेगा?  यह पता लगाने के लिए कि सूर्य और ग्रह कैसे व्यवस्थित कर रहे हैं?  आपकी हर दिन की कुंडली के साथ आपको इस बात की साधारण रिपोर्ट मिलेगी कि सितारों को भविष्य में क्या कहना है और भविष्य क्या कहना है!  संभवतः राशि आपके लिए खुलासा कर रही है कि आज नवाचार के लिए एक दिन है, या शायद आपका संकेत आपको बता रहा है कि आराधना आ रही है।



 चंद्रमा का चरण आपके वोकेशन को प्रॉपेल करने के लिए आदर्श हो सकता है, या हब्स पारिवारिक मामलों की ओर बढ़ सकते हैं।  आपकी कुंडली आज आपकी कुंडली के समान नहीं होगी, और आप मौका नहीं देखना पसंद करेंगे!



 क्या आपकी राशि के महत्व के बारे में अस्पष्ट विचार नहीं है?  2020 में प्रत्येक राशि को ऊपर बिंदु द्वारा इंगित किया गया है, जो आपको एक दिन के लिए तैयार करने के लिए हर दिन ताज़ा करती है जो शानदार और महत्वपूर्ण है।




 रोजमर्रा की जिंदगी में एक्सेल, प्यार, पेशा कुछ भी! - सितारों में क्या है यह एहसास करके।

Read More »

शनिवार, 24 अक्तूबर 2020

CoVID – 19 Press List Barely: 20 Department of Health and Family Welfare,

CoVID – 19 Press List Barely: 20 Department of Health and Family Welfare,

To date, a total of 2,8,8 persons have been quarantined in different districts of the state out of which 2,8,8 persons are home quarantine.


 And 3 persons have been kept in facility quarantine.






 The total number of patients in the state at present is as follows.


 asla sai ventilator


 21


 Stable


 93, € 99


 Discharge


 1,2,3


 Total


 93,669


 Death


 3,9CR


 A total of 06 tragic deaths have been reported in the state today due to David-12.  Whose details


 Global pandemic: cavid-18


 The state government is constantly striving to curb the growing coronary transition


 RIRIHİ II SIAS-96 oll 9029 olaI EET) oiluU: 9093 EÉl dressed up and went home


 As a result of the result oriented work of the health department in the state


 So far, a total of 1,2,9 patients from Rajyabha 5 have been given corona



 Fifty-six dozen Dorona tests were conducted in the state today: So far, fifty-six, eighty-three Dorona tests have been conducted across the state.


The state government is making continuous efforts to prevent the transmission of corona in the state.  As a result of intensive efforts by the state government, the incidence of coronavirus infection is gradually declining.  Today, a total of 1,091 cases have been registered in various districts of the state.  


Today, 1,018 patients have recovered from the corona and returned to their homes.  So far, a total of 1,2,9 patients in the state have recovered.  The state is recovering.  In the same way, Corona's tertiary capacity has also been increased.  Today, a total of 8,050 tests have been conducted in the state.  So far, a total of 53,91,9 teratos have been done in the state.

Read More »

Nishtha New module 10, Module 11, Module 12 available now.

Nishtha New module 10, Module 11, Module 12 available now.


Nishtha total 18 module training declare by education department. Out of 18 module module 10 to 12 available now. It is start on 26 October 2020.

Nishtha Module 10 :: Samajik vigyan nu Padhdhtishatra

Nishtha Module 11 :: Bhashao nu Padhdhtisastra

Nishtha Module 12 :: Viguan nu Padhdhtisastra

Join Now Nishtha Module 10 to Module 12


Join Module 10 : Click Here

Join Module 11 : Click Here

Join Module 12 : Click Here

Nishtha Module 10 :: Samajik vigyan nu Padhdhtishatra




This module begins with a discussion of the social sciences in the upper primary section. This phase lists the objectives of teaching social science subject. The third point is to introduce three subjects in the social sciences: history, geography and socio-political life. What educational method can a teacher adopt, especially in the case of study findings and social sciences? Has given its discussion.


Nishtha Module 11 :: Bhashao nu Padhdhtisastra



This module on language learning methodology has been introduced to the state's S R G and K R P for linguistic education from a diverse Indian perspective. Attempts to familiarize language status, language learning methods and processes in education as well as language and language assessment solutions. This module introduces language learning-teaching methods, concepts and ideas along with topics of discussion and reflection.


Nishtha Module 12 :: Viguan nu Padhdhtisastra



The pedagogy module of science has been developed for teachers working in the upper primary department. The main objective of this module is to make the teaching and understanding of science more practical and efficient through activities and experiments.


Nishtha Training Schedule changes due to Diwali Vacation Read latest circular

Due to Corona effect Education department arrange Diksha Nishtha training on online mode. But Diwali vacation announced Nishttha training schedule is changed.

Nishtha Training new Time Table declared.

18 courses of loyalty teacher training for the remaining primary teachers and headmasters (Government, Granted, KGBV, Ashram School, Kendriya Vidyalaya, Jawahar Navodaya Vidyalaya, Railway Shaw (IL) and Sainik School on 5th October. | Was performed during November 2020,

For primary school teachers. As the Diwali vacation has been declared during 29th October 18th November 2020, the schedule for joining the online course and broadcasting of BIES is being changed as follows.


The details of the aforesaid change are stated in the coordination of the District Education Officer, District Primary Education Officer and the Govt.

Read More »

शुक्रवार, 23 अक्तूबर 2020

FIX PAY MA THI REGULAR PAY THATA MEDICAL LEAVE CARRY FORWORD KARVA BABAT PARIPATRA

FIX PAY MA THI REGULAR PAY THATA MEDICAL LEAVE CARRY FORWORD KARVA BABAT PARIPATRA.



LATEST PARIPATRA DATE:- 23/10/2020.


Subject: - Matter of sick leave in case of regular appointment from fixed salary.


Sir, as per your letter no. 16/09/2040 regarding the above subject - Hitini / Govt. Provision has been made that these leave can be accumulated from the condition of (3) of 2006/7 (Part-II) / Z.1, these leave in respect of illness accumulated during the five years service of such fixed salary employees shall be given to them regularly appointment. Carry forward. Which is requested to be informed. Yours faithfully.


Notice of Finance Department, 12/1 / Mr., to state under the above subject that. Pursuant to Issue No. 1 of Resolution (1) referred to, the employees of fixed salary may get leave for sick purpose during the year on the basis of medical certificate as per rule of 10 leave in full pay or 50 in half pay. In addition to this, sick leave will have to be paid with deductible salary. As per point no. 2 of the resolution


Click here to download paripatara

(1) referred to, the Secretary of the concerned administrative department may approve these leave. Reference (1) As per Issue No. 4 of the Resolution, the sick leave accumulated during the five years of service of fixed salary employees can be taken forward after they get regular appointment or not? Guidance was sought in this regard through the letter dated 19/06/207 from the branch here. 

According to the letter of the Finance Department referred to in  have completed satisfactory service of 5 (five) years in fixed salary Carry forward can be taken. Guidance has been given by Z1 branch of finance department. Which is known to Aapshri.

Read More »

NISHTHA TALIM MA VACATION BABAT LATEST PARIPATRA

NISHTHA TALIM MA VACATION BABAT LATEST PARIPATRA.

Gujarat Council of Educational Research and Training, Vidya Bhavan 'Me Cutter-15, Gandhinagar Email: gcerttraining@gmail.com Date: 8/10/2010 From Secretary, Principal, District Education and Talim Bhavan, Subject: Dedication to Primary Teachers Regarding Involvement of Teachers in Teacher Training References: 30-9-20 2. Circular No. regarding vacation of the Director of Primary Education: Prashini, 2-9 Compilation / 2020 0115-606 Dt. As on 31/10/2020, to state under the above subject that primary teachers and headmasters (Government, Granted, K GBV Mash 10, Kendriya Vidyalaya, Jawahar Navodaya Vidyalaya, Railway School) And 18 courses of loyalty teacher training for soldier school teachers were organized on 5th October || November 2020.


NISHTHA TALIM 2020


NISHTHA ON DIKSHA 2020



Allegiance Training Agreement - Part I * All help guruji All the teachers who did not take allegiance training last year and must join the training compulsorily. This course will be available on online initiation portal. This training will start from 5th October - 2020. There will be 12 courses which will be compulsory to join in all. This training will have a total of 12 modules. 1 Loyalty training will be broadcast on Vande Gujarat Channel No. 1 as well as on Geo TV. Will be displayed on number-

The teacher has to prepare the homework of total 12 modules of the training - the homework prepared by the teacher of loyalty training has to be submitted to CRC. The homework submitted by CRC has to be submitted to BRC by 25/11/2020 AIL help guruji Telegram Channel Every teacher has to fill his self declaration form on Diksha portal. In this declaration form the teacher has to show his details. This training will be completely online. Details of how to fill up the self declaration form before joining Form i Devotion Training (1) First open the Diksha application.


(1) First - open the Diksha application


(2) After opening the Diksha application, click on the profile on the right side of your application and login with Google Mail or your mobile and password. All help guruji Telegram Channel


(3) You will be able to see your name and details. There will be a Submit Details button under Edit.


(4) As soon as you click, two boxes will open in front of you. In that you have to select Teacher in the first box. After selecting these details, a new menu will open after submitting.


(5) This box will show your details including your mobile and Gmail. If you have not updated your mobile number and Gmail yet, go to this box and update. All help guruji telegram channel



(6) Now below you have to show the name of your school


- In the last box you have to enter your teacher code in the Enter Id shown - Now in the check box given below you have to submit the details of your self declaration form by ticking the truth * H Completed by 04/10/2050 and must be joined by 05/10/2050 Dinesh Singh Rathore Province 1 CRC.



As per reference letter-3, Diwali vacation has been announced for primary school teachers on 29th October 18th November 2020 in online course in loyalty training. The schedule for joining and broadcasting Biseg is changed as follows:


Read More »

Dr. Ambedkar Awas Yojana Online Application Form

Dr. Ambedkar Awas Yojana Online Application Form




Dr. Ambedkar Awas Yojana Online Application Form in Gujarat 2020 | Dr. Ambedkar Awas Yojana Online Application Form Dr.Babasaheb Ambedkar shram safely awas yojana | Pradhan Mantri awas yojana | Ambedkar awas yojana status | pmay-g registration form | Ambedkar Awas yojana 2020 list | Pradhan Mantri awas yojana 2020 | awas yojana gujarat | scheduled caste welfare department gujarat | niradhar Sahay yojana | ketal shed yojana gujarat | Makan repairing form | www pmaymis gov in 2020.
H


Dr. Ambedkar Awas Yojana Online Application Form

The purpose of the scheme Scheduled Caste Homeless, Open Plot, Uninhabitable Raw Mud and to build a house on the first floor 1,20,000 is paid in three installments. Out of Rs. 1,20,000 assistance, first installment – Rs. 40,000, second installment – Rs. 60,000 and third installment – Rs.20,000/- will be given to beneficiary.



Terms and Conditions Beneficiary should not have availed benefits under any other housing scheme implemented by the Government by the beneficiary or other family members of the beneficiary.
The complete construction of the house will not be completed with the help received under Dr. Ambedkar Awas Yojana, so the construction of the building will have to be completed by adding the remaining amount to the beneficiary himself.

Annual income in rural areas should not exceed Rs.1,20,000 and in urban areas annual income should not exceed Rs.1,50,000.


In addition to housing assistance, under the Mahatma Gandhi NREGA scheme in rural areas for housing construction, 90 days unskilled employment can be obtained from the NREGA branch of the taluka panchayat as per the rules of the scheme.
Under Swachh Bharat Mission, Rs. 12,000 / – for toilet can be obtained from Taluka Panchayat in rural areas and Nagarpalika / Mahanagarpalika in urban areas.

Document to be submitted

Aadhar card of the applicant
Ration card
Election credentials
Example of applicant’s caste / sub-caste
Example of total annual income of the applicant
Proof of Residence: (Electricity Bill, License, Lease Agreement, Copy of Election Card
Back passbook / canceled check (applicant’s name)
Land Ownership Base / Document / Size Form / Rights Form / Charter Form (as applicable).

Copy of the map showing the area of ​​the land on which the building is to be constructed, signed by Talati-cum-Minister.Building construction lot

An affidavit stating that he has not availed of this scheme beforeExample of husband’s death (if a widow)

IMPORTANT LINK

Apply online || Application form


Click here to watch this video


Steps for Online Application
1. Register Yourself
2. Login & Update Profile
3. Apply For the Scheme
4. Submit Your Application

Ambedkar awas yojna assistance amount, Ambedkar awas yojana beneficiary status, Ambedkar awas yojana for Rural areas, Ambedkar awas yojna for Urban areas, Ambedkar awas yojna Form, Ambedkar awas yojna Gujarat, Ambedkar awas yojana Online Application, Ambedkar awas yojna pdf form, Ambedkar awas yojna status, baba saheb Ambedkar yojna 2020
Read More »

आज राशिफल भविष्य अक्टूबर-23-10-2020।

 आज राशिफल भविष्य अक्टूबर-23-10-2020।


 आज राशिफल भविष्य अक्टूबर-23-10-2020। हैलोवीन के दृष्टिकोण के अनुसार, हम ग्रहों को चारों ओर घूमते हुए देखते हैं - विशेष रूप से सोमवार को जब मंगल (जुनून का ग्रह) बृहस्पति (बहुतायत का ग्रह),



 शुक्र (प्रेम का ग्रह) बृहस्पति को दर्शाता है, और बुध (संचार का ग्रह) यूरेनस (परिवर्तन का ग्रह) का विरोध करता है।  हालाँकि, इससे पहले कि आप डरावनी आवाज़ में चिल्लाते रहें, ये सब अच्छी बातें हैं!  भाग्य के एक जादुई दिन, मानसिक चपलता, और कुछ खुश आश्चर्य की अपेक्षा करें - विशेष रूप से प्यार और वित्त के क्षेत्रों में।  सौभाग्य



 बुधवार को जब शुक्र प्लूटो (परिवर्तन का ग्रह) को चीरता है तो चीजें थोड़ी मुश्किल हो जाती हैं।  यह अच्छा या बुरा हो सकता है जो इस बात पर निर्भर करता है कि आप अपनी ऊर्जाओं पर ध्यान कैसे देते हैं।  यह आपके करियर के लिए एक महान दिन हो सकता है लेकिन रिश्तों और रोमांस के लिए एक बुरा दिन है

 जब सूरज गुरुवार को रहस्यमय और तीव्र वृश्चिक राशि में प्रवेश करता है, तो हम डरावना डरावना वाइब्स मारते हैं।  अगले चार हफ्तों के लिए, हम अपने भीतर की ऊर्जा का पता लगाने के साथ एक अधिक शक्तिशाली, मायावी ऊर्जा महसूस करेंगे।

 सप्ताहांत हमें एक अच्छे नोट पर छोड़ देता है जब शनिवार को शुक्र ग्रह शनि (नींव का ग्रह) को विभाजित करता है, जिससे भविष्य के लिए योजना बनाने का एक उत्कृष्ट दिन होता है।

 

 मेष राशि



 सप्ताह, पहले, आपको कुछ अच्छे भाग्य, मेष राशि लाएगा।  लेकिन एक बार सप्ताहांत के आसपास घूमने के बाद, आप सभी काम करेंगे और कोई खेल नहीं होगा।  किसी भी भाषाई काम को पूरा करने के लिए यह एक अच्छा समय है।

 ।

 वृषभ


 सोमवार आपके दिन को थोड़ा तनाव (और आश्चर्य) देने वाला है।  हम सभी जानते हैं कि आप नियमित रूप से होने वाली घटनाओं, वृषभ के प्रशंसक नहीं हैं, इसलिए एक गहरी सांस लें और यह सब होने दें।  गुरुवार को, ब्रह्मांड अगले कुछ हफ्तों में आपके रिश्तों को उजागर करेगा।  मुद्दे के बारे में बात करने के लिए तैयार हो जाओ


 ।

 मिथुन राशि


 जमीन से जुड़े प्रोजेक्ट या विचार प्राप्त करने के लिए सोमवार का दिन बहुत अच्छा होता है।  मिथुन राशि के बारे में आपके पास हमेशा बहुत सारे विचार होते हैं, लेकिन आज आपको वास्तव में ऐसा करने के लिए अनुवर्ती जानकारी देंगे!  सप्ताहांत में, आप एक नए जुनून के बारे में भी उत्साहित हो जाएंगे।

 ।

 कैंसर


 सप्ताह सकारात्मकता और प्रकाश लाता है क्योंकि शुक्र और बृहस्पति एक मधुर कोण बनाते हैं।  इससे आपको अपना फ़्लर्ट करने में मदद करनी चाहिए, क्योंकि आपका आत्मविश्वास आसमान पर होगा, कर्क!  इससे अधिक, यह आपको दूसरों के लिए अतिरिक्त आकर्षक बना देगा।

 ।

 सिंह


 सफलता की एक हवा चारों ओर तैर रही है, लियो!  वीनस और प्लूटो के साथ सप्ताह के मध्य में संबंध बनाने के साथ, अवसर आपके लिए भरपूर हैं।  बाद में, सूरज आपके परिवार के क्षेत्र में प्रवेश करता है-आपको घर पर रहने और प्रियजनों के साथ समय बिताने के लिए प्रोत्साहित करता है।

 कन्या


 आयोजन आमतौर पर एक "कन्या चीज है।"  अच्छा अंदाजा लगाए?  बुधवार को शुक्र-प्लूटो कनेक्टियोप्विन घर पर समन्वय और पुनर्गठन के लिए आपके प्यार को खिलाने वाला है।  सप्ताहांत में, आप अधिक महत्वाकांक्षी महसूस कर सकते हैं - सूरज की गति के लिए धन्यवाद।  यह अगले दो हफ्तों तक जारी रहना चाहिए।


 तुला


 बहुत हाल ही में, तुला लग रहा है?  उसका एक कारण है  सोमवार को संबंध बनाने वाले शुक्र और बृहस्पति आपको सामान्य से अधिक भावुक बना रहे हैं।  मदद मांगने से बचें।  गुरुवार को आप विवरण पर लटका हुआ देख सकते हैं।  उन चीजों की कोशिश करें जो आपको अलार्म न दें;  आप इसे संभाल सकते हैं h


 वृश्चिक


 बुध ने सोमवार को यूरेनस का विरोध किया, आपको सभी नियंत्रणों को त्यागने के लिए कहा।  यह सामान्य रूप से एक स्कॉर्पियोफ़ेवसाइट शगल नहीं है, लेकिन आपको खुशी होगी कि आपने किया।  गुरुवार को सूर्य आपके संकेत में प्रवेश करता है, जहां यह अगले कुछ हफ्तों तक रहेगा।  इसे गले लगाने;  आप पहले से कहीं अधिक आत्मविश्वास महसूस करेंगे!

 ।

 धनुराशि


 सोमवार आपको सवाल करता है कि क्या आपको किसी के साथ होना चाहिए या नहीं।  सुनिश्चित करें कि शुक्र-बृहस्पति पहलू अनुपात से बाहर की चीजें नहीं उड़ा रहे हैं।  उद्देश्य हो।  शांत रहें, धनु।  सप्ताहांत आपके लक्ष्यों की पहचान करने के लिए एक शानदार समय होगा।


 मकर राशि


 आपके साइन में कुछ प्रमुख ग्रहों के साथ बुधवार को अलग-अलग पहलू हैं, यह काम के बारे में है।  अापका खास!  लेकिन जब गुरुवार को सूर्य वृश्चिक राशि में चला जाता है, तो आप थोड़ा सा मूड महसूस कर सकते हैं, मकर।  यह सामान्य बात है!


कुंभ राशि



 एक निश्चित संकेत के रूप में, समझौता आपका मजबूत सूट नहीं है, कुंभ राशि।  और बुधवार को शुक्र-प्लूटो ट्राइन के लिए धन्यवाद, यह प्रवृत्ति पूरी ताकत से बाहर आ जाएगी।  गुरुवार को, सूरज आपके कार्यक्षेत्र में आगे बढ़ता है, जिससे आपको अपने कैरियर के लक्ष्यों को फिर से परिभाषित करने और आपको क्या चाहिए।



 रचनात्मक हो जाओ और वास्तव में अपने विचारों को गले लगाओ।  किसी भी कला परियोजनाओं को शुरू (या खत्म) करने के लिए इस ऊर्जा का उपयोग करें।  गुरुवार को सूर्य के वृश्चिक राशि में प्रवेश करने के साथ ही यह आपकी भावनात्मक तरंगों में भी तेजी लाएगा।  शांत रहें और भावनाओं को बहने दें, मीन।

Read More »

गुरुवार, 22 अक्तूबर 2020

आज राशिफल भविष्य अक्टूबर-22-10-2020।Today rashifal bhavishya October-22-10-2020.

आज राशिफल भविष्य अक्टूबर-22-10-2020।Today rashifal bhavishya October-22-10-2020.

 आज राशिफल भविष्य अक्टूबर-22-10-2020।Today rashifal bhavishya October-22-10-2020. हैलोवीन के दृष्टिकोण के अनुसार, हम ग्रहों को चारों ओर घूमते हुए देखते हैं - विशेष रूप से सोमवार को जब मंगल (जुनून का ग्रह) बृहस्पति (बहुतायत का ग्रह),


 शुक्र (प्रेम का ग्रह) बृहस्पति को दर्शाता है, और बुध (संचार का ग्रह) यूरेनस (परिवर्तन का ग्रह) का विरोध करता है।  हालाँकि, इससे पहले कि आप डरावनी आवाज़ में चिल्लाते रहें, ये सब अच्छी बातें हैं!  भाग्य का एक जादुई दिन, मानसिक चपलता, और कुछ खुश आश्चर्य की अपेक्षा करें - विशेष रूप से प्यार और वित्त के क्षेत्रों में।  सौभाग्य


 बुधवार को जब शुक्र प्लूटो (परिवर्तन का ग्रह) में प्रवेश करता है तो चीजें थोड़ी मुश्किल हो जाती हैं।  यह अच्छा या बुरा हो सकता है जो इस बात पर निर्भर करता है कि आप अपनी ऊर्जाओं पर कैसे ध्यान केंद्रित करते हैं।  यह आपके करियर के लिए एक महान दिन हो सकता है लेकिन रिश्तों और रोमांस के लिए एक बुरा दिन है। 

मेष राशि


 सप्ताह, सबसे पहले, आपको कुछ अच्छी किस्मत, मेष राशि लाएगा।  लेकिन एक बार सप्ताहांत के आसपास घूमने के बाद, आप सभी काम करेंगे और कोई खेल नहीं होगा।  किसी भी भाषाई काम को पूरा करने के लिए यह एक अच्छा समय है।

 ।

 वृषभ


 सोमवार आपके दिन को थोड़ा तनाव (और आश्चर्य) देने वाला है।  हम सभी जानते हैं कि आप नियमित रूप से होने वाली घटनाओं, वृषभ के प्रशंसक नहीं हैं, इसलिए एक गहरी सांस लें और यह सब होने दें।  गुरुवार को, ब्रह्मांड अगले कुछ हफ्तों में आपके रिश्तों को उजागर करेगा।  मुद्दे के बारे में बात करने के लिए तैयार हो जाओ

 ।

 मिथुन राशि

 जमीन से जुड़ी परियोजनाओं या विचारों को प्राप्त करने के लिए सोमवार एक महान दिन है।  मिथुन राशि के बारे में आपके पास हमेशा बहुत सारे विचार होते हैं, लेकिन आज आपको वास्तव में ऐसा करने के लिए अनुवर्ती जानकारी देंगे!  सप्ताहांत में, आप एक नए जुनून के बारे में भी उत्साहित हो जाएंगे।

 ।

 कैंसर

 सप्ताह सकारात्मकता और प्रकाश लाता है क्योंकि शुक्र और बृहस्पति एक मधुर कोण बनाते हैं।  इससे आपको अपना फ़्लर्ट करने में मदद करनी चाहिए, क्योंकि आपका आत्मविश्वास आसमान पर होगा, कर्क!  इससे अधिक, यह आपको दूसरों के लिए अतिरिक्त आकर्षक बना देगा।

 ।

 सिंह


 सफलता की एक हवा चारों ओर तैर रही है, लियो!  वीनस और प्लूटो के साथ सप्ताह के मध्य में संबंध बनाने के साथ, अवसर आपके लिए भरपूर हैं।  बाद में, सूरज आपके परिवार के क्षेत्र में प्रवेश करता है-आपको घर पर रहने और प्रियजनों के साथ समय बिताने के लिए प्रोत्साहित करता है।

 कन्या



 आयोजन आमतौर पर एक "कन्या चीज है।"  अच्छा अंदाजा लगाए?  बुधवार को शुक्र-प्लूटो कनेक्टियोप्विन घर पर समन्वय और पुनर्गठन के लिए आपके प्यार को खिलाने वाला है।  सप्ताहांत में, आप अधिक महत्वाकांक्षी महसूस कर सकते हैं - सूरज की गति के लिए धन्यवाद।  यह अगले कुछ हफ्तों तक जारी रहना चाहिए।

 तुला

 बहुत हाल ही में लग रहा है, तुला?  उसका एक कारण है  सोमवार को संबंध बनाने वाले शुक्र और बृहस्पति आपको सामान्य से अधिक भावनात्मक बना रहे हैं।  मदद मांगने से बचें।  गुरुवार को आप विवरण पर लटका हुआ देख सकते हैं।  कोशिश करें कि चीजें आपको खतरे में न डालें;  आप इसे संभाल सकते हैं h


 वृश्चिक


 बुध ने सोमवार को यूरेनस का विरोध किया, आपको सभी नियंत्रणों को त्यागने के लिए कहा।  यह सामान्य रूप से एक स्कॉर्पियोफ़ेवसाइट शगल नहीं है, लेकिन आपको खुशी होगी कि आपने किया।  गुरुवार को सूर्य आपके संकेत में प्रवेश करता है, जहां यह अगले कुछ हफ्तों तक रहेगा।  इसे गले लगाने;  आप पहले से कहीं अधिक आत्मविश्वास महसूस करेंगे!

 ।

 धनुराशि

कुंभ राशि


 एक निश्चित संकेत के रूप में, समझौता आपका मजबूत सूट नहीं है, कुंभ राशि।  और बुधवार को शुक्र-प्लूटो ट्राइन के लिए धन्यवाद, यह प्रवृत्ति पूरी ताकत से बाहर आ जाएगी।  गुरुवार को, सूरज आपके कार्यक्षेत्र में आगे बढ़ता है, जिससे आपको अपने कैरियर के लक्ष्यों को फिर से परिभाषित करने और आपको क्या चाहिए।




 रचनात्मक हो जाओ और वास्तव में अपने विचारों को गले लगाओ।  किसी भी कला परियोजनाओं को शुरू (या खत्म) करने के लिए इस ऊर्जा का उपयोग करें।  गुरुवार को सूर्य के वृश्चिक राशि में प्रवेश करने के साथ ही यह आपकी भावनात्मक तरंगों में भी तेजी लाएगा।  शांत रहें और भावनाओं को बहने दें, मीन।

Read More »

बुधवार, 21 अक्तूबर 2020

Javahar Navoday Vidyalay class 6 six VI admission 2020-21 at www.navodaya.gov.in

Javahar Navoday Vidyalay class 6 six VI admission 2020-21 at www.navodaya.gov.in




In accordance with the National Policy of Education (1986), Government of India started Jawahar Navodaya Vidyalayas (JNVs). Presently the JNVs are spread in 27 States and 08 Union Territories. 

co-educational residential schools fully financed and administered by Government of India through an autonomousorganization, Navodaya Vidyalaya Samiti. Admissions in JNVs are made through the JAWAHAR NAVODAYA VIDYALAYA SELECTION TEST (JNVST) to Class VI. The medium of instruction in JNVs is the mother tongue or regional language up to Class VIII and thereafter English for Mathematics and Science and Hindi for Social Science. Students of the JNVs appear for board examinations of the Central Board of Secondary Education.


Jawahar Navodaya Vidyalaya Selection Test - 2021


JNV Selection Test for admission to Class-VI in JNVs for the academic session 2021-22 will be held in , the at in one phase for all Jawahar Navodaya Vidyalayas.


Type of Test Number of Questions Marks Duration

Mental ability Test ::: 40 Questions

Arithmetic Test ::: 20 Questions

Language Test ::: 20 Questions

Total 80 Questions

100 MArks

2 Hours

HOW TO APPLY FOR JNV SELECTION TEST


Procedure to register online for JNV Selection Test 2021


(i) The process for submission of application for JNV Selection Test has been simplified through online process. Registration can be done free of cost through the admission portal of NVS linked through www.navodaya.gov.in and navodaya.gov.in/nvs/en/Admission-JNVST/JNVST-class/. Verification of proofs for residence, age, eligibility etc. will be done for selected candidates through the laid down procedure after the declaration of results.

(ii) The eligible candidates have to fill up the online form and upload the certificate with the photograph along with signatures of both candidate and his/her parent/guardian. The attachments should be uploaded in jpg format of the size between10-100 kb only.

(iii) In case of candidates from NIOS, candidates should obtain `B’ certificate and residence should be in the same district where he/she is seeking admission.

(iv) Online platform is in open source and free of cost. Application may be submitted from any source like desktop, laptop, mobile, tablet etc.

(v) In all JNVs a help desk will be available to assist the candidates/parents to upload application free of cost. Parents may also approach the help desk in JNV along with candidate and required documents such as certificate with photograph along with signature of both candidate and his/her

parent/guardian and a mobile phone with valid mobile number for receiving the registration number and password through SMS for registration process


Admisison Process For Navoday class six :

First You have Apply Online For Navoday vidyalay class Admission entrance exam for 2020.

Then Navoday vidyalay samiti Issue Hall ticket for Class six Admisison Entrance exam on 11th january 2020.

Navoday Class six Entrance Exam Is multiple choise Question exam. In Navoday Class six entrance exam pattern is 80 Questions and 100 marks.

Then Navoday vidyalay samiti issue Merit List For Navoday Vidyalay class six Admisison for year 2020

Procedure to register online for JNV Selection Test 2021


(i) the method for submission of application for JNV Selection Test has been simplified through online process. Registration are often done freed from cost through the admission portal of NVS linked through www.navodaya.gov.in. Verification of proofs for residence, age, eligibility etc. are going to be finished selected candidates through the laid down procedure after the declaration of results.
1





 candidates need to refill the web form and upload the certificate with the photograph along side signatures of both candidate and his/her parent/guardian. The attachments should be uploaded in jpg format of the dimensions between10-100 kb only.

(iii) just in case of candidat
Read More »

4200 grade pay news by Dy cm Nitin bhai Patel official News

4200 grade pay news by Dy cm Nitin bhai Patel official News

4200 grade pay news A pay grade is a unit in systems of monetary compensation for employment. It is commonly used in public service, both civil and military, but also for companies of the private sector. Pay grades facilitate the employment process by providing a fixed framework of salary ranges, as opposed to a free negotiation.



Important link

Click here to view Videos


The Gujarat government has decided to postpone the notification regarding the reduction in the grade pay of primary teachers in the state, which was made almost a year ago.
Read More »

Gujarat State Education Recruitment Board @ https://www.gserc.in

Shikshan Sahayak Recruitment 2021 jobs in Gujarat online Notification: Gujarat State Education Recruitment Board @ https://www.gserc.in

Important Link :-24-06-2021


TAT શિક્ષણ સહાયક ગ્રાન્ટેડ માધ્યમિક કુલ, જીલ્લાવાઈઝ અને શાળાવાઈઝ ખાલી જગ્યાઓ નીચે આપેલ છે.


(૧) ગ્રાન્ટેડ માધ્યમિક કુલ ખાલી જગ્યાઓ ડાઉનલોડ કરો અહીં

(૨) માધ્યમિક ભરતી જીલ્લાવાઈઝ જગ્યાઓ ડાઉનલોડ કરો અહીં

(૩) માધ્યમિક ભરતી શાળાવાઈઝ જગ્યાઓ ડાઉનલોડ કરો અહીં

CLICK HEAR DOWNLOAD WAITING LIST HEAR

GSERC Shikshan Sahayak Recruitment 2019, Gujarat State Education Recruitment Board (GSERC) has released the https://www.gserc.in jobs in Gujarat online Notification on the official website.

GSERC. rat State Education Recruitment Board (GSERC) has invited the online application form for the posts of the Shikshan Sahayak. The official board has released the vacancies for the Shikshan Sahayak. Candidates may check the official notification of the GSERC


From the official notification, you can get about the academic qualification, age limit, age relaxation, exam fee, total vacancies, selection process, how to apply and others. Here we also provide the official link to access the  jobs in Gujarat. Candidates stay connects with us for the latest updates related to the GSERC Shikshan Sahayak Recruitment 2019 jobs in Gujarat

Contents
1 Vacancies in Shikshan Sahayak Posts 2019 Online Application Form Vigyapti
1.1 www.gserc.org Shikshan Sahayak Bharti Form 2019 latest Gujarat Shikshan Sahayak Vacancies

1.2 Eligibility Criteria for GSERC Shikshan Sahayak Recruitment 2019

1.2.1 How to apply for GSERC Shikshan Sahayak Recruitment 2019 jobs in Gujarat online Notification
About Gujarat State Education Recruitment Board @ https://www.gserc.in Details


Of space LIST JOVA Here CLICK KARO

the recruitment of Gujarat State Secondary and Higher Secondary Educational Staff" has been constituted for Government Schools and Government Non-Government Aided Schools with the notification of the State Government dated 7/9/3.

Read More »

NISHTHA MODULE AHEVAL LEKHAN AND SVADHYAY KARY

 NISHTHA MODULE AHEVAL LEKHAN AND SVADHYAY KARY 


Maha Shikshak Training Training Literature Module: IC - Integration of ICT in Study Teaching and Evaluation Integrative 


JOIN WHATSAPP GROUP


 Through which the siege of the hunt can be accomplished.  * The present time is full of technology and knowledge.  Where every day person is connected with technology.  At present the student can get education through internet himself. Today's education is full of technology.  In which every day the student has finished studying with technology.  



Nishtha module Aheval lekhan namuna.


The classroom also uses technology.  Learning Objectives: Description of Information and Communication Technology.  Understanding the benefits of Y ICT.  Contextual Study - Identifying appropriate teaching resources for teaching strategies. 



 * Identification and presentation of the use of ICT tools in evaluation.  * Introduction to ICT in Education: There are three basic concepts in information and communication technology.  Information, communication and related technical information means precisely arranged facts or understanding of a matter.  


Nishtha module svadhyay lekhan namuna.


Communication is the act of conveying information from one place to another or from one person to another in its original sense in written, verbal or other non-verbal sense. The third concept is to apply scientific knowledge for a specific purpose.  The term ICT is often used as a synonym for IT (information technology). But really IT is the use of ICT, so ICT includes IT.  But apart from that it has a much wider field.  ICT is a broader and more accepted term in education.  


* What is ICT?  : ICT stands for Information Communication Technology / Information: Information is the product of processing data.  


Communication: Communication is the social communication that takes place through messages.


Nishtha module Aheval lekhan namuna.


Technology: Technology is the process of improving and enriching human life by developing new tools, devices and methods with the help of scientific principles and techniques.  


Concept of ICT: Information can be digitally stored through ICT.  Y ICT can bring many changes in education,Effectiveness of study can be increased *We can use slide show, messenger and many other means for education .



MODULE 1 :- ABHASKRAM ANE SAMAVESHI VARGKHANDO

MODULE 2 :- VYAKTIGAT - SAMAJIK GUNO NO VIKAS ANE SALAMAT TEMAJ SVASTH SHALA BHAVAVARAN NU NIRMAN

MODULE 3 :- SHALAOMA AAROGYA ANE SUKHAKARI

Module 4 Click here

Module 5Click here

Module 6Click here

Module 7 click here

Module 8 click here

Module 9 click here

ICT in teaching-learning including Artificial Intelligence,
NOTE:- NISTHA App ma Niche na Module Open kari Join Course Kari Do.


Module 9 Click here



Module 8 Click here


Module 7 Click here

Quiz: Activity  How does ICT help in teaching and evaluation?  Open the given link and read the activity given in it and respond.  Subject Matter - Inclusion of Pedagogy and Technology: 


Subject Matter - Pedagogy (Technology) Technology Integration: In view of the progress of the digital world, teachers themselves need to be equipped with the necessary professional skills to use ICT for teaching and learning.  Integrating ICT into the teaching-learning process means not only using the Internet and digital tools but also as a means of achieving the objectives and learning outcomes of the subject to be taught and learned.



Nishtha module Aheval lekhan namuna.

NISHTHA MODUEL 1 AHEVAL

NISHTHA MODUEL 2 AHEVAL

NISHTHA MODUEL 3 AHEVAL

NISHTHA MODUEL 4 AHEVAL

NISHTHA MODUEL 5 AHEVAL

NISHTHA MODUEL 6 AHEVAL

NISHTHA MODUEL 7 AHEVAL

NISHTHA MODUEL 8 AHEVAL

NISHTHA MODUEL 9 AHEVAL

NISHTHA MODUEL 10 AHEVAL

NISHTHA MODUEL 11 AHEVAL

NISHTHA MODUEL 12 AHEVAL

NISHTHA MODUEL 13 AHEVAL

NISHTHA MODUEL 14 AHEVAL

NISHTHA MODUEL 15 AHEVAL

NISHTHA MODUEL 16 AHEVAL

NISHTHA MODUEL 17 AHEVAL

NISHTHA MODUEL 18 AHEVAL
Read More »

आज राशिफल भविस्य अक्टूबर-21-2020।Today rashifal bhavishya October-21-2020

 राशिफल भविस्य अक्टूबर-21-2020।Today rashifal bhavishya October-21-2020


 हैलोवीन के दृष्टिकोण के अनुसार, हम ग्रहों को चारों ओर घूमते हुए देखते हैं - विशेष रूप से सोमवार को जब मंगल (जुनून का ग्रह) बृहस्पति (बहुतायत का ग्रह),



शुक्र (प्रेम का ग्रह) बृहस्पति को दर्शाता है, और बुध (संचार का ग्रह) यूरेनस (परिवर्तन का ग्रह) का विरोध करता है।  हालाँकि, इससे पहले कि आप डरावनी आवाज़ में चिल्लाते रहें, ये सब अच्छी बातें हैं!  भाग्य का एक जादुई दिन, मानसिक चपलता, और कुछ खुश आश्चर्य की अपेक्षा करें - विशेष रूप से प्यार और वित्त के क्षेत्रों में।  सौभाग्य


 बुधवार को जब शुक्र प्लूटो (परिवर्तन का ग्रह) में प्रवेश करता है तो चीजें थोड़ी मुश्किल हो जाती हैं।  यह अच्छा या बुरा हो सकता है जो इस बात पर निर्भर करता है कि आप अपनी ऊर्जाओं पर कैसे ध्यान केंद्रित करते हैं।  यह आपके करियर के लिए एक महान दिन हो सकता है लेकिन रिश्तों और रोमांस के लिए एक बुरा दिन है।


 जब सूरज गुरुवार को रहस्यमय और तीव्र वृश्चिक राशि में प्रवेश करता है, तो हम डरावना डरावना वाइब्स मारते हैं।  अगले चार हफ्तों के लिए, हम अपने भीतर की ऊर्जा का पता लगाने के साथ एक अधिक शक्तिशाली, मायावी ऊर्जा महसूस करेंगे।

सप्ताहांत हमें एक अच्छे नोट पर छोड़ देता है जब शनिवार को शुक्र ग्रह शनि (नींव का ग्रह) को विभाजित करता है, जिससे भविष्य के लिए योजना बनाने का एक उत्कृष्ट दिन होता है।

 ग्रह आपकी राशि को कैसे प्रभावित करेंगे





 चांद

 मेष राशि


 सप्ताह, सबसे पहले, आपको कुछ अच्छी किस्मत, मेष राशि लाएगा।  लेकिन एक बार सप्ताहांत के आसपास घूमने के बाद, आप सभी काम करेंगे और कोई खेल नहीं होगा।  किसी भी भाषाई काम को पूरा करने के लिए यह एक अच्छा समय है।

 ।

 वृषभ



 सोमवार आपके दिन को थोड़ा तनाव (और आश्चर्य) देने वाला है।  हम सभी जानते हैं कि आप नियमित रूप से होने वाली घटनाओं, वृषभ के प्रशंसक नहीं हैं, इसलिए एक गहरी सांस लें और यह सब होने दें।  गुरुवार को, ब्रह्मांड अगले कुछ हफ्तों में आपके रिश्तों को उजागर करेगा।  मुद्दे के बारे में बात करने के लिए तैयार हो जाओ

 ।

 मिथुन राशि

जमीन से जुड़ी परियोजनाओं या विचारों को प्राप्त करने के लिए सोमवार एक महान दिन है।  मिथुन राशि के बारे में आपके पास हमेशा बहुत सारे विचार होते हैं, लेकिन आज आपको वास्तव में ऐसा करने के लिए अनुवर्ती जानकारी देंगे!  सप्ताहांत में, आप एक नए जुनून के बारे में भी उत्साहित हो जाएंगे।

 ।

 कैंसर


 सप्ताह सकारात्मकता और प्रकाश लाता है क्योंकि शुक्र और बृहस्पति एक मधुर कोण बनाते हैं।  इससे आपको अपना फ़्लर्ट करने में मदद करनी चाहिए, क्योंकि आपका आत्मविश्वास आसमान पर होगा, कर्क!  इससे अधिक, यह आपको दूसरों के लिए अतिरिक्त आकर्षक बना देगा।

 ।

 सिंह


 सफलता की एक हवा चारों ओर तैर रही है, लियो!  वीनस और प्लूटो के साथ सप्ताह के मध्य में संबंध बनाने के साथ, अवसर आपके लिए भरपूर हैं।  बाद में, सूरज आपके परिवार के क्षेत्र में प्रवेश करता है-आपको घर पर रहने और प्रियजनों के साथ समय बिताने के लिए प्रोत्साहित करता है।


 कन्या

आयोजन आमतौर पर एक "कन्या चीज है।"  अच्छा अंदाजा लगाए?  बुधवार को शुक्र-प्लूटो कनेक्टियोप्विन घर पर समन्वय और पुनर्गठन के लिए आपके प्यार को खिलाने वाला है।  सप्ताहांत में, आप अधिक महत्वाकांक्षी महसूस कर सकते हैं - सूरज की गति के लिए धन्यवाद।  यह अगले कुछ हफ्तों तक जारी रहना चाहिए।



 तुला


 बहुत हाल ही में लग रहा है, तुला?  उसका एक कारण है  सोमवार को संबंध बनाने वाले शुक्र और बृहस्पति आपको सामान्य से अधिक भावनात्मक बना रहे हैं।  मदद मांगने से बचें।  गुरुवार को आप विवरण पर लटका हुआ देख सकते हैं।  कोशिश करें कि चीजें आपको खतरे में न डालें;  आप इसे संभाल सकते हैं h


 वृश्चिक


 बुध ने सोमवार को यूरेनस का विरोध किया, आपको सभी नियंत्रणों को त्यागने के लिए कहा।  यह सामान्य रूप से एक स्कॉर्पियोफ़ेवसाइट शगल नहीं है, लेकिन आपको खुशी होगी कि आपने किया।  गुरुवार को सूर्य आपके संकेत में प्रवेश करता है, जहां यह अगले कुछ हफ्तों तक रहेगा।  इसे गले लगाने;  आप पहले से कहीं अधिक आत्मविश्वास महसूस करेंगे!

 ।

 धनुराशि


 सोमवार आपको सवाल करता है कि क्या आपको किसी के साथ होना चाहिए या नहीं।  सुनिश्चित करें कि शुक्र-बृहस्पति पहलू अनुपात से बाहर की चीजें नहीं उड़ा रहे हैं।  उद्देश्य हो।  शांत रहें, धनु।  सप्ताहांत आपके लक्ष्यों की पहचान करने के लिए एक शानदार समय होगा।


 मकर राशि


 आपके साइन में कुछ प्रमुख ग्रहों के साथ बुधवार को अलग-अलग पहलू हैं, यह काम के बारे में है।  अापका खास!  लेकिन जब गुरुवार को सूर्य वृश्चिक राशि में चला जाता है, तो आप थोड़ा सा मूड महसूस कर सकते हैं, मकर।  यह सामान्य बात है!


 महत्वपूर्ण लिंक



 कुंभ राशि

एक निश्चित संकेत के रूप में, समझौता आपका मजबूत सूट नहीं है, कुंभ राशि।  और बुधवार को शुक्र-प्लूटो ट्राइन के लिए धन्यवाद, यह प्रवृत्ति पूरी ताकत से बाहर आ जाएगी।  गुरुवार को, सूरज आपके कार्यक्षेत्र में आगे बढ़ता है, जिससे आपको अपने कैरियर के लक्ष्यों को फिर से परिभाषित करने और आपको क्या चाहिए।


  रचनात्मक हो जाओ और वास्तव में अपने विचारों को गले लगाओ।  किसी भी कला परियोजनाओं को शुरू (या खत्म) करने के लिए इस ऊर्जा का उपयोग करें।  गुरुवार को सूर्य के वृश्चिक राशि में प्रवेश करने के साथ ही यह आपकी भावनात्मक तरंगों में भी तेजी लाएगा।  शांत रहें और भावनाओं को बहने दें, मीन।


Read More »

मंगलवार, 20 अक्तूबर 2020

the best news ever came for the farmers of Gujarat, know what the energy minister said?

  the best news ever came for the farmers of Gujarat, know what the energy minister said?

Gujarat Energy Minister Saurabh Patel has made an important announcement today.  Good news for farmers. Let's find out what he has to say.  o The best news so far for the farmers of Gujarat Farmers will now get electricity even during the day • State Energy Minister Saurabh Patel made this important announcement.  Cabinet Minister Saurabh Patel held a press conference and gave important news to the farmers.  "Farmers will now get electricity during the day," he said.  17.25 lakh farmers in the state will get electricity on a daily basis.  Has announced to provide electricity to farmers during the day.



An important plan has been announced to provide electricity for farming during the day.  17.25 lakh farmers have electricity connection.  There was a demand from farmers to provide electricity during the day.  PM will inaugurate Kisan Sarvodaya Yojana.  17.25 lakh farmers in the state will get electricity on a daily basis.  

The scheme will be completed in two or three years.  

Which villages will get electricity for how many hours? The power minister further said that electricity will be provided from 5 am to 9 pm.  11 to 13 thousand mega watts of electricity is required for electricity during the day.  Electricity will be provided to 220 villages of Junagadh during the day.  Electricity will be provided to 143 villages of Gir Somnath during the day.  It will provide electricity to 692 villages of Dahod during the day.  



How far is the electricity during the day?  

It will take 3 years to set up a structure to provide electricity to farmers on a daily basis. The government has to set up a new structure for Suryodaya Yojana for farmers. In the budget of 2020-21, the Gujarat government has provided Rs.

How far is the electricity during the day?  . 

 It will take 3 years to set up a structure to provide electricity to farmers on a daily basis. The government has to set up a new structure for Kisan Suryodaya Yojana. The Gujarat government has provided Rs.  - Rs 3500 crore is to be spent to build the structure in the next 3 years. The government plans to implement the scheme in phases in 3 years. 



The government has yet to create a system that can carry electricity.  

The government will have to lay 20 new lines.  After laying 1 new line of 132 KV transmission, the work will move forward. 233 lines will have to be laid in the state of 66 KV transmission. 17 3817 circuit kilometers will have to be constructed from 254 KV transmission lines.

Read More »

PM Modi Today 6 pm Adressed to the nation

 PM Modi Today 6 pm Adressed to the nation




Let me tell you that the crisis of corona virus continues in the country, the PM has been constantly appealing to the people to follow the rules. PM Modi has given a mantra that as long as there is no medicine, there is no slackness.






Prime Minister Modi has addressed the nation 12 times so far


1. 8 November 201 .: Announced the closure of Rs.500 and Rs.1000 notes to control black money.


2. 15 February 2019: Prime Minister addresses the nation after 40 CRPF personnel were killed in Pulwama.


3. March 27, 2019: Modi says DRDO scientists have smashed a live satellite in Lower Earth orbit.


4. August 8, 2019: After removing Article 370 from Jammu and Kashmir, Modi addressed the nation on August 8, 2019 at 8 pm.


5. September 7, 2019: Encouraged scientists after Chandrayaan-2 lost contact before landing on the moon.


6. 9 November 2019: Supreme Court judgment on Ayodhya dispute and talks on Kartarpur corridor in Punjab.


7. March 19, 2020: The Prime Minister appealed for a public curfew to get people's cooperation with the government's efforts to fight coronavirus in the country.


8. March 24, 2020: Asking the countrymen for some time to fight Corona, he announced a nationwide lockdown for 21 days.


9. 3 April 2020: Appealed to light a lamp on the terrace or balcony, after turning off the lights of the house from 9 pm to 9 minutes on 5 April 2020.


10. 14 April 2020; The nationwide lockdown was extended to May 3.


11. 12 May 2020: Announces Rs 20 Lakh Crore Package for Self Reliant India Campaign.


12. 30 June 2020: Prime Minister announces extension of Garib Kalyan Anna Yojana till end of November.


Prime Minister Narendra Modi has addressed the nation many times so far. In which PM Modi had also addressed the nation during the appeal for lighting of candles for Janata Curfew, 21 days lockdown, Corona Warriors.



Prime Minister Narendra Modi will address the nation this evening at 6 p.m. He informed about this by tweeting about it and asked people to join for sure. The Prime Minister has addressed the nation several times in the wake of the Corona virus epidemic. He has also been advising the countrymen to be cautious about Korona in his monthly radio program 'Mann Ki Baat'. It is unknown at this time what he will do after leaving the post.


WATCH LIVE FROM HERE

It is to be mentioned that the festive season is going on in the country now and in the days to come there will be a continuous festival, in which the government is once again being strict.

Read More »

EDUCATIONAL YEAR 2020-21 MATE DIWALI VACATION NIYAT KARVA BABAT LATEST PARIPATRA.

 EDUCATIONAL YEAR 2020-21 MATE DIWALI VACATION NIYAT KARVA BABAT LATEST PARIPATRA. 


Gujarat Board of Secondary and Higher Secondary Education, Sector-10B, Near Old Secretariat, Gandhinagar, dated 30/10/2050, District Education Officer, All Gujarat State.  Subject: - Matter of fixing Diwali vacation in schools for the academic year 2020-21.  


Reference: - With the approval of the Government obtained on the single file here, according to the above subject and reference, to state that school activity calendar is prepared every year by the Gujarat Board of Secondary and Higher Secondary Education.  




The prescribed vacation dates are applicable to all secondary and higher secondary schools recognized by the Gujarat Board of Secondary and Higher Secondary Education.  



Due to the prevailing situation of Kovid-19 in the current year, the school activity calendar could not be fixed by the Gujarat Board of Secondary and Higher Secondary Education as no direct educational work could be started for the students in the schools.  In the above circumstances, it is necessary for the vacation staff to clarify the duration of Diwali vacation. 

 In this regard, as per every year, as per the approval of the Government received on the file regarding fixing the duration of Diwali vacation for the vacation staff in the schools, in the academic year 2020-201, the Diwali vacation in the schools should be 21 days from 29/10/2020 to 15/11/2020.  Is.  



This will have to be implemented in all the secondary and higher secondary schools recognized by the Gujarat Secondary and Higher Secondary Education Board.  Separate instruction will be given from now on regarding the entrance examination to be taken in the schools. 

 The above details are requested to be sent to all the secondary and higher secondary schools under your jurisdiction.  (B. N. Rajgor) Joint Director Gu.Ma.  And U.M.  Board of Education, Gandhinagar Eye - Crvni - 19, Dadu Circular in ahuvgain order - Diwali Vacation Day

Read More »

4200 GRADE PAY RELATED IMPORTANT NEWS

4200 GRADE PAY RELATED IMPORTANT NEWS

A pay grade is a unit in systems of monetary compensation for employment. It is commonly used in public service, both civil and military, but also for companies of the private sector. Pay grades facilitate the employment process by providing a fixed framework of salary ranges, as opposed to a free negotiation. 


The Gujarat government has decided to postpone the notification regarding the reduction in the grade pay of primary teachers in the state, which was made almost a year ago.

Through this notification dated June 25, 2019, the state government had reduced the grade pay of more than 60 thousand teachers recruited after 2010 in primary teachers from Rs. 4200 to Rs. 2800.



Typically, pay grades encompass two dimensions: a "vertical" range where each level corresponds to the responsibility of, and requirements needed for a certain position; and a "horizontal" range within this scale to allow for monetary incentives rewarding the employee's quality of performance or length of service. 



4200 GRADE PAY RELATED IMPORTANT NEWS

CLICK BELOW IMAGE FOR DETAILS 




Thus, an employee progresses within the horizontal and vertical ranges upon achieving positive appraisal on a regular basis. In most cases, evaluation is done annually and encompasses more than one methometho

Read More »

सोमवार, 19 अक्तूबर 2020

Rashifal List Component/दैनिक राशिफल

Rashifal List Component/दैनिक राशिफल

दैनिक राशिफल कन्या - Daily Rashifal Kanya Rashi. Team Raftaar. दैनिक राशिफल मिथुन - Daily Rashifal Mithun

मिथुन | मिथुन राशि

(जिसका नाम के। जी। डी। से शुरू होता है)

सोमवार, 19 अक्टूबर, 2020



चंद्र राशि के अनुसार

पॉजिटिव: - कोई शुभ सूचना प्राप्त होगी। इसलिए मीडिया और संपर्क गतिविधियों पर विशेष ध्यान दें। आप धार्मिक और आध्यात्मिक क्षेत्र में अधिक रुचि लेंगे।

2020 Rashifal In Hindi (Horoscope 2020): नये साल के स्वामी शनि व लग्न स्वामी बुध वर्ष कुंडली

नकारात्मक: - किसी करीबी रिश्तेदार या दोस्त के साथ बहस करने की स्थिति है। अपने गुस्से और गुस्से पर काबू रखें। आज किसी भी तरह की यात्रा टालना बेहतर है।


व्यवसाय: - अधिक परिश्रम करने और क्षेत्र में कुछ बदलाव करने की आवश्यकता है।


प्यार: - पति और पत्नी का एक दूसरे के साथ एक अच्छा रिश्ता होगा।


स्वास्थ्य: - शरीर में उनींदापन और थकान जैसी स्थितियों का अनुभव होगा।

मेष राशि | मेष राशि

 चंद्र राशि के अनुसार

पॉजिटिव: - आज का ज्यादातर समय घर और रिश्तेदारों के साथ बीतेगा। जिससे आपका रिश्ता बेहतर होगा। ग्रहों की स्थिति इस समय कुछ अनुकूल परिस्थितियों का निर्माण कर रही है, इसलिए समय का अधिकतम लाभ उठाएं।


नेगेटिव: - किसी अजनबी से बातचीत या महत्वपूर्ण काम से पहले उचित जांच-पड़ताल जरूर करें। विश्वासघात की भी संभावना है। प्रकृति में परिपक्वता लाना आवश्यक है।


व्यवसाय: - व्यावसायिक गतिविधियाँ आज भी सामान्य रूप से जारी रहेंगी। इसलिए किसी भी तरह का बदलाव करने की कोशिश न करें।


प्रेम: - जीवनसाथी के साथ संबंध अच्छे रहेंगे।


स्वास्थ्य: - स्वास्थ्य अच्छा रहेगा।

वृषभ | वृषभ

 चंद्र राशि के अनुसार

पॉजिटिव: - आज का दिन रचनात्मक कार्यों और अध्ययन में विशेष रुचि रखेगा। किसी पुरानी समस्या का हल खोजना आपको बेहतर महसूस कराएगा। परिवार में बड़ों के प्रति सम्मान रखें और उनके मार्गदर्शन को अपने जीवन में लागू करें।


नेगेटिव: - खतरनाक कामों से दूर रहें। क्योंकि नुकसान के अलावा कुछ हासिल नहीं होगा। करीबी रिश्तेदारों के साथ किसी तरह का विवाद भी होगा। यह किसी के हस्तक्षेप से भी आसानी से हल हो जाएगा।


व्यवसाय: - कार्यस्थल में आप अपने साहस और आत्मविश्वास के साथ कई अटके हुए कामों को पूरा कर पाएंगे।


प्रेम: - पारिवारिक और व्यावसायिक जीवन में अच्छा तालमेल बनाए रखें।


स्वास्थ्य: - अपनी दिनचर्या और खानपान को संयम में रखें।

Read More »

रविवार, 18 अक्तूबर 2020

Today Rashifal or Horoscope in Hindi

 Today Rashifal or Horoscope in Hindi

Today Rashifal or Horoscope in Hindi Aaj Ka Rashifal- Get Today's Rashifal In Hindi, Daily Rashifal, Dainik Rashifal


today horoscope, and Daily Zodiac Forecast for every Zodiac 


 मेष राशि के व्यक्ति के हाथ का आकार शंकु के आकार का होता है।  हथेलियाँ उँगलियों जितनी बड़ी होती हैं।  हाथ आधार पर विस्तृत और सिर पर संकीर्ण होते हैं।  सिर बड़ा है और मुंह विद्वान की तरह आकार का है।  सिर या माथे पर एक निशान या छाती या चेहरे पर एक मस्सा या मस्सा होगा।  इस राशि के व्यक्ति की भौहें हमेशा ऊंची होती हैं।  वे हर समय सतर्क रहते हैं।  हर काम पर सतर्क रहें।  साथ ही उन्हें सफाई पसंद है।  हर काम को निपुणता से करें।  आंख कमजोर है।  इस राशि का प्रभाव सिर पर होता है इसलिए मानसिक शांति कम होती है।  उनकी प्रकृति गर्म है इसलिए गर्म भोजन खाने से वे बीमार हो जाते हैं।


वृषभ- बॉडी बिल्ड


 वृषभ व्यक्ति के हाथ की आकृति चौकोर होती है।  यह लंबाई में छोटा और चौड़ाई में छोटा होता है और इसमें एक बड़ा अंगूठा होता है जिसे वापस नहीं किया जा सकता है।  वृष का प्रभाव गर्दन पर विशेष होता है।  इसलिए उनके पास बोलने की असाधारण क्षमता है।  यदि वृषभ राशि का व्यक्ति शरीर में कमजोर है, तो उसे अधिक पौष्टिक भोजन और कम वसायुक्त भोजन करना चाहिए।  इस व्यक्ति की उंगली, गाल या तर्जनी पर तिल या बवासीर के विशिष्ट निशान हैं।  जिन लोगों की उंगलियों या गालों पर धब्बे होते हैं, वे पैसे नहीं बचाते हैं।


सिंह- शरीर का निर्माण


 "एक लियो व्यक्ति का हाथ अपेक्षाकृत छोटा होता है। हथेली उँगलियों जितनी बड़ी होती है। हाथ आधार पर चौड़ा और उंगलियों की ओर पतला होता है। सिर ऊंचा होता है और माथा चौड़ा होता है।  जाने से हड्डी कमजोर होगी। ”

Read More »

शुक्रवार, 16 अक्तूबर 2020

शारदीय नवरात्रि 17 अक्टूबर 2020 नवरात्रि कलश स्थापना समय

 

शारदीय नवरात्रि 17 अक्टूबर 2020

 

नवरात्रि कलशस्थापना समय

शारदीय नवरात्रि की शुरुआत कलश स्थापना से होती है  इस साल कलश स्थापना का मुहूर्त 17 अक्टूबर 2020 चौघड़िया मुहूर्त के अनुसार शुभ मुहूर्त पर भी कर सकते है शुभ चौघड़िया 07:47 से 09:16 तक , चर लाभ, अमृत चौघड़िया समय 12:18 से 16:17 तक, लाभ चौघड़िया 17:45 से 19:26 तक,  आप इस मुहूर्त में कलश स्थापना  कर सकते है या तो फिर घटस्थापना अभिजित मुहूर्त सुबह 11 बजकर 48 मिनट से दोपहर 12 बजकर 35 मिनट तक रहेगा उसमें कर सकते हैं!.

 

इस वर्ष शारदीय नवरात्रि 17 अक्टूबर 2020 से शुरु होने जा रहे हैं। हिंदू धर्म के लोगों के लिए ये पूजा अर्चना के विशेष दिन होते हैं। इन दिनों मां दुर्गा के विभिन्न  स्वरूपों की उपासना की जाती है। नवरात्रि के इन में 9 दिनों तक माता दुर्गा के 9 स्वरूपों की आराधना करने से जीवन में ऋद्धि-सिद्धि ,सुख- शांति, मान-सम्मान, यश और समृद्धि की प्राप्ति शीघ्र ही होती है। माता दुर्गा हिन्दू धर्म में आद्यशक्ति  के रूप में सुप्रतिष्ठित है तथा माता शीघ्र फल प्रदान करनेवाली देवी के रूप में लोक में प्रसिद्ध है। देवीभागवत पुराण के अनुसार आश्विन मास में माता की पूजा-अर्चना वा नवरात्र व्रत करने से मनुष्य पर देवी दुर्गा की कृपा सम्पूर्ण वर्ष बनी रहती है और मनुष्य का कल्याण होता है।

 

हमारे देश में शारदीय (आश्विन) नवरात्रि का सबसे अधिक महत्व माना जाता है, इस समय देश के लगभग सभी छोटे-बड़ें शहरो, गांवों में माँ दुर्गा की मृतिका से बनी प्रतिमा का अस्थाई स्थापना करके पूजा आराधना की जाती है। शरद ऋतु की इस आश्विन नवरात्रि को माँ दुर्गा की असुरों पर विजय पर्व के रूप में मनाया जाता है, इसलिए नौ दिनों तक माँ दुर्गा के विभिन्न नौ स्वरुपों की विशेष पूजा की जाती है।

 

नवरात्रि पर्व मुख्य रूप से भारत के उत्तरी राज्यों सहित सभी क्षेत्रों में धूम-धाम से मनाया जाता है। नवरात्रि में देवी दुर्गा के भक्त नौ दिनों उपवास रखते हैं तथा माता की चौकी स्थापित की जाती हैं। नवरात्रि के नौ दिनों को बहुत पावन माना जाता है। इन दिनों घरों में मांस, मदिरा, प्याज, लहसुन आदि चीज़ों का परहेज़ कर सात्विक भोजन किया जाता है।

नौ दिन उपवास के बाद नवमी या दसवीं पूजन किया जाता है जिसमें कन्या पूजन का भी विशेष महत्व है। नवरात्रि के पहले दिन घटस्थापना करके नौ दिनों तक देवी दुर्गा की आराधना और व्रत का संकल्प लिया जाता है। नवरात्रि के दिनों में चारों ओर माता की चौकी और जगराते कर भजन कीर्तन किया जाता है।

 

यह रहेंगी शरद नवरात्रि की तिथियां --

 

नवरात्रि प्रथम दिन 1 (प्रतिपदा) को देवी की अस्थाई मूर्ति की स्थापना, घटस्थापना (कलश स्थापना) होगी। पहले दिन माँ शैलपुत्री की होगी।

 

नवरात्रि दिन 2 (द्वितीया)

मां ब्रह्मचारिणी पूजा

 

नवरात्रि दिन 3 (तृतीया)

मां चंद्रघंटा पूजा

 

नवरात्रि दिन 4 (चतुर्थी)

मां कूष्मांडा पूजा

 

नवरात्रि दिन 5 (पंचमी)

मां स्कंदमाता पूजा

 

नवरात्रि दिन 6 (षष्ठी‌)

 

मां कात्यायनी पूजा

 

नवरात्रि दिन 7 (सप्तमी)

मां कालरात्रि पूजा

 

नवरात्रि दिन 8 (अष्टमी)

मां महागौरी, दुर्गा महा अष्टमी पूजा, दुर्गा महा नवमी पूजा

 

नवरात्रि दिन 9 (नवमी)

मां सिद्धिदात्री नवरात्रि पारणा को किया जाएगा।शारदीय नवरात्रि के नवमें दिन माँ सिद्धदात्री की आयुध पूजा, नवमी हवन, नवरात्रि पारण आदि संपन्न होगा। घट विसर्जन भी इसी दिन किया जा सकता है।

 

नवरात्रि  (दशमी)

दुर्गा विसर्जन, विजय दशमी (दशहरे का महापर्व) का पर्व 25 अक्टूबर 2020 को मनाया जाएगा।शारदीय नवरात्रि के दशमी तिथि को माँ दुर्गा की विदाई एवं अस्थाई रूप से स्थापित मूर्ति विसर्जन होगा।

 

शारदीय नवरात्रके व्रत में नौ दिन तक भगवती दुर्गा का पूजन, दुर्गा सप्तशती का पाठ तथा एक समय भोजन का व्रत धारण किया जाता है।

 

प्रतिपदा के दिन प्रात: स्नानादि करके संकल्प करें तथा स्वयं या पण्डित के द्वारा मिट्टी की वेदी बनाकर जौ बोने चाहिए। उसी पर घट स्थापना करें। फिर घट के ऊपर कुलदेवी की प्रतिमा स्थापित कर उसका पूजन करें तथा दुर्गा सप्तशती का पाठ करें। पाठ-पूजन के समय अखण्ड दीप जलता रहना चाहिए।

 

वैष्णव लोग राम की मूर्ति स्थापित कर रामायण का पाठ करते हैं। दुर्गा अष्टमी तथा नवमी को भगवती दुर्गा देवी की पूर्ण आहुति दी जाती है। नैवेद्य, चना, हलवा, खीर आदि से भोग लगाकर कन्या तथा छोटे बच्चों को भोजन कराना चाहिए। नवरात्र ही शक्ति पूजा का समय है, इसलिए नवरात्र में इन शक्तियों की पूजा करनी चाहिए। पूजा करने के उपरान्त इस मंत्र द्वारा माता की प्रार्थना करना चाहिए-

 

"विधेहि देवि कल्याणं विधेहि परमांश्रियम्| रूपंदेहि जयंदेहि यशोदेहि द्विषोजहि ||"

 

 

दुर्गा पूजन सामग्री-

 

पंचमेवा पंचमिठाई रूई कलावा, रोली, सिंदूर, नारियल, अक्षत, लाल वस्त्र , फूल, 5 सुपारी, लौंग,  पान के पत्ते 5 , घी, कलश, कलश हेतु आम का पल्लव, चौकी, समिधा, हवन कुण्ड, हवन सामग्री, कमल गट्टे, पंचामृत ( दूध, दही, घी, शहद, शर्करा ), फल, बताशे, मिठाईयां, पूजा में बैठने हेतु आसन, हल्दी की गांठ , अगरबत्ती, कुमकुम, इत्र, दीपक, , आरती की थाली. कुशा, रक्त चंदन, श्रीखंड चंदन, जौ, तिल, सुवर्ण प्रतिमा 2, आभूषण श्रृंगार का सामान, फूल माला .

दुर्गा पूजन शुरू करने से पूर्व चौकी को धोकर माता की चौकी सजायें।

पूजन और संकल्प की तैयारी --

 

आसन बिछाकर गणपति एवं दुर्गा माता की मूर्ति के सम्मुख बैठ जाएं. इसके बाद अपने आपको तथा आसन को इस मंत्र से शुद्धि करें  अपवित्र : पवित्रोवा सर्वावस्थां गतोऽपिवा। : स्मरेत् पुण्डरीकाक्षं बाह्याभ्यन्तर: शुचि :

 

इन मंत्रों से अपने ऊपर तथा आसन पर 3-3 बार कुशा या पुष्पादि से छींटें लगायें फिर आचमन करें

केशवाय नम: नारायणाय नम:, माधवाय नम:, गोविन्दाय नम:, फिर हाथ धोएं, पुन: आसन शुद्धि मंत्र बोलें :-

 

पृथ्वी त्वयाधृता लोका देवि त्यवं विष्णुनाधृता।

त्वं धारयमां देवि पवित्रं कुरु चासनम्॥

शुद्धि और आचमन के बाद चंदन लगाना चाहिए. अनामिका उंगली से श्रीखंड चंदन लगाते हुए यह मंत्र बोलें-

चन्दनस्य महत्पुण्यम् पवित्रं पापनाशनम्,

आपदां हरते नित्यम् लक्ष्मी तिष्ठतु सर्वदा।

 

 

दुर्गा पूजन हेतु संकल्प

पंचोपचार करने बाद संकल्प करना चाहिए. संकल्प में पुष्प, फल, सुपारी, पान, चांदी का सिक्का, नारियल (पानी वाला), मिठाई, मेवा, आदि सभी सामग्री थोड़ी-थोड़ी मात्रा में लेकर संकल्प मंत्र बोलें :

विष्णुर्विष्णुर्विष्णु:, अद्य  ब्रह्मणोऽह्नि द्वितीय परार्धे श्री श्वेतवाराहकल्पे वैवस्वतमन्वन्तरे, अष्टाविंशतितमे कलियुगे, कलिप्रथम चरणे जम्बूद्वीपे भरतखण्डे भारतवर्षे पुण्य (अपने नगर/गांव का नाम लें) क्षेत्रे बौद्धावतारे वीर विक्रमादित्यनृपते : 2077, तमेऽब्दे प्रमादी नाम संवत्सरे दक्षिणायने शरद ऋतो महामंगल्यप्रदे मासानां मासोत्तमे आश्विन मासे शुक्ल पक्षे प्रतिपदायां तिथौ (जो दिन बार का नाम ले) वासरे (गोत्र का नाम लें) गोत्रोत्पन्नोऽहं अमुकनामा (अपना नाम लें) सकलपापक्षयपूर्वकं सर्वारिष्ट शांतिनिमित्तं सर्वमंगलकामनया- श्रुतिस्मृत्योक्तफलप्राप्त्यर्थं मनेप्सित कार्य सिद्धयर्थं श्री दुर्गा पूजनं अहं करिष्ये। तत्पूर्वागंत्वेन निर्विघ्नतापूर्वक कार्य सिद्धयर्थं यथामिलितोपचारे गणपति पूजनं करिष्ये।

गणपति पूजन

किसी भी पूजा में सर्वप्रथम गणेश जी की पूजा की जाती है.हाथ में पुष्प लेकर गणपति का ध्यान करें.

गजाननम्भूतगणादिसेवितं कपित्थ जम्बू फलचारुभक्षणम्।

उमासुतं शोक विनाशकारकं नमामि विघ्नेश्वरपादपंकजम्।

आवाहन: हाथ में अक्षत लेकर

आगच्छ देव देवेश, गौरीपुत्र विनायक।

तवपूजा करोमद्य, अत्रतिष्ठ परमेश्वर॥

 

श्री सिद्धि विनायकाय नमः इहागच्छ इह तिष्ठ कहकर अक्षत गणेश जी पर चढा़ दें। हाथ में फूल लेकर श्री सिद्धि विनायकाय नमः आसनं समर्पयामि, अर्घा में जल लेकर बोलें श्री सिद्धि विनायकाय नमः अर्घ्यं समर्पयामि, आचमनीय-स्नानीयं श्री सिद्धि विनायकाय नमः आचमनीयं समर्पयामि वस्त्र लेकर श्री सिद्धि विनायकाय नमः वस्त्रं समर्पयामि, यज्ञोपवीत- श्री सिद्धि विनायकाय नमः यज्ञोपवीतं समर्पयामि, पुनराचमनीयम्, श्री सिद्धि विनायकाय नमः  रक्त चंदन लगाएं: इदम रक्त चंदनम् लेपनम्  श्री सिद्धि विनायकाय नमः , इसी प्रकार श्रीखंड चंदन बोलकर श्रीखंड चंदन लगाएं. इसके पश्चात सिन्दूर चढ़ाएंइदं सिन्दूराभरणं लेपनम् श्री सिद्धि विनायकाय नमः, दूर्वा और विल्बपत्र भी गणेश जी को चढ़ाएं.

 

पूजन के बाद गणेश जी को प्रसाद अर्पित करें: श्री सिद्धि विनायकाय नमः इदं नानाविधि नैवेद्यानि समर्पयामि, मिष्टान अर्पित करने के लिए मंत्र- शर्करा खण्ड खाद्यानि दधि क्षीर घृतानि ,

आहारो भक्ष्य भोज्यं गृह्यतां गणनायक। प्रसाद अर्पित करने के बाद आचमन करायें. इदं आचमनीयं श्री सिद्धि विनायकाय नमः . इसके बाद पान सुपारी चढ़ायें- श्री सिद्धि विनायकाय नमः ताम्बूलं

समर्पया मि अब फल लेकर गणपति पर चढ़ाएं श्री सिद्धि विनायकाय नमः फलं समर्पयामि, श्री सिद्धि विनायकाय नमः द्रव्य दक्षिणां समर्पयामि, अब विषम संख्या में दीपक जलाकर निराजन करें और भगवान की आरती गायें। हाथ में फूल लेकर गणेश जी को अर्पित करें,  फिर तीन प्रदक्षिणा करें।

इसी प्रकार से अन्य सभी देवताओं की पूजा करें. जिस देवता की पूजा करनी हो गणेश के स्थान पर उस देवता का नाम लें.

 

कलश पूजन

घड़े या लोटे पर कलावा बांधकर कलश के ऊपर आम का पल्लव रखें. कलश के अंदर सुपारी, दूर्वा, अक्षत, मुद्रा रखें, नारियल पर वस्त्र लपेट कर कलश पर रखें,हाथ में अक्षत और पुष्प लेकर वरूण देवता का कलश में आवाहन करें. त्तत्वायामि ब्रह्मणा वन्दमानस्तदाशास्ते यजमानोहर्विभि: अहेडमानोवरुणेह बोध्युरुशं समानऽआयु: प्रमोषी: (अस्मिन कलशे वरुणं सांगं सपरिवारं सायुध सशक्तिकमावाहयामि,

भूर्भुव: स्व: भो वरुण इहागच्छ इहतिष्ठ। स्थापयामि पूजयामि।

इसके बाद जिस प्रकार गणेश जी की पूजा की है उसी प्रकार वरूण देवता की पूजा करें. 

 

 

दुर्गा पूजन-

 

सबसे पहले माता दुर्गा का ध्यान करें-

सर्व मंगल मागंल्ये शिवे सर्वार्थ साधिके

शरण्येत्रयम्बिके गौरी नारायणी नमोस्तुते

आवाहन- श्रीजगदम्बायै दुर्गादेव्यै नम: दुर्गादेवीमावाहयामि॥

आसन- श्रीजगदम्बायै दुर्गादेव्यै नम: आसानार्थे पुष्पाणि समर्पयामि॥

अर्घ्य- श्रीजगदम्बायै दुर्गादेव्यै नम: हस्तयो: अर्घ्यं समर्पयामि॥

आचमन- श्रीजगदम्बायै दुर्गादेव्यै नम: आचमनं समर्पयामि॥

स्नान- श्रीजगदम्बायै दुर्गादेव्यै नम: स्नानार्थं जलं समर्पयामि॥

स्नानांग आचमन- स्नानान्ते पुनराचमनीयं जलं समर्पयामि।

पंचामृत स्नान- श्रीजगदम्बायै दुर्गादेव्यै नम: पंचामृतस्नानं समर्पयामि॥

गन्धोदक-स्नान- श्रीजगदम्बायै दुर्गादेव्यै नम: गन्धोदकस्नानं समर्पयामि॥

शुद्धोदक स्नान- श्रीजगदम्बायै दुर्गादेव्यै नम: शुद्धोदकस्नानं समर्पयामि॥

आचमन- शुद्धोदकस्नानान्ते आचमनीयं जलं समर्पयामि।

वस्त्र- श्रीजगदम्बायै दुर्गादेव्यै नम: वस्त्रं समर्पयामि वस्त्रान्ते आचमनीयं जलं समर्पयामि।

सौभाग्य सू़त्र- श्रीजगदम्बायै दुर्गादेव्यै नम: सौभाग्य सूत्रं समर्पयामि

चन्दन- श्रीजगदम्बायै दुर्गादेव्यै नम: चन्दनं समर्पयामि

हरिद्राचूर्ण- श्रीजगदम्बायै दुर्गादेव्यै नम: हरिद्रां समर्पयामि

कुंकुम- श्रीजगदम्बायै दुर्गादेव्यै नम: कुंकुम समर्पयामि

सिन्दूर- श्रीजगदम्बायै दुर्गादेव्यै नम: सिन्दूरं समर्पयामि

कज्जल- श्रीजगदम्बायै दुर्गादेव्यै नम: कज्जलं समर्पयामि

दूर्वाकुंर- श्रीजगदम्बायै दुर्गादेव्यै नम: दूर्वाकुंरानि समर्पयामि

आभूषण- श्रीजगदम्बायै दुर्गादेव्यै नम: आभूषणानि समर्पयामि

पुष्पमाला- श्रीजगदम्बायै दुर्गादेव्यै नम: पुष्पमाला समर्पयामि

धूप- श्रीजगदम्बायै दुर्गादेव्यै नम: धूपमाघ्रापयामि॥

दीप- श्रीजगदम्बायै दुर्गादेव्यै नम: दीपं दर्शयामि॥

नैवेद्य- श्रीजगदम्बायै दुर्गादेव्यै नम: नैवेद्यं निवेदयामि॥

नैवेद्यान्ते त्रिबारं आचमनीय जलं समर्पयामि।

 

फल- श्रीजगदम्बायै दुर्गादेव्यै नम: फलानि समर्पयामि॥

ताम्बूल- श्रीजगदम्बायै दुर्गादेव्यै नम: ताम्बूलं समर्पयामि॥

दक्षिणा- श्रीजगदम्बायै दुर्गादेव्यै नम: दक्षिणां समर्पयामि॥

आरती- श्रीजगदम्बायै दुर्गादेव्यै नम: आरार्तिकं समर्पयामि॥

क्षमा प्रार्थना--

 

मंत्रं नोयंत्रं तदपि जाने स्तुतिमहो

चाह्वानं ध्यानं तदपि जाने स्तुतिकथाः

जाने मुद्रास्ते तदपि जाने विलपनं

परं जाने मातस्त्वदनुसरणं क्लेशहरणम् 1                           

विधेरज्ञानेन द्रविणविरहेणालसतया

विधेयाशक्यत्वात्तव चरणयोर्या च्युतिरभूत्

तदेतत्क्षतव्यं जननि सकलोद्धारिणि शिवे

कुपुत्रो जायेत क्वचिदपि कुमाता भवति 2                        

पृथिव्यां पुत्रास्ते जननि बहवः सन्ति सरलाः

परं तेषां मध्ये विरलतरलोऽहं तव सुतः

मदीयोऽयंत्यागः समुचितमिदं नो तव शिवे

कुपुत्रो जायेत् क्वचिदपि कुमाता भवति 3                         

जगन्मातर्मातस्तव चरणसेवा रचिता

वा दत्तं देवि द्रविणमपि भूयस्तव मया

तथापित्वं स्नेहं मयि निरुपमं यत्प्रकुरुषे

कुपुत्रो जायेत क्वचिदप कुमाता भवति 4                        

परित्यक्तादेवा विविधविधिसेवाकुलतया

मया पंचाशीतेरधिकमपनीते तु वयसि

इदानीं चेन्मातस्तव कृपा नापि भविता

निरालम्बो लम्बोदर जननि कं यामि शरण् 5             

श्वपाको जल्पाको भवति मधुपाकोपमगिरा

निरातंको रंको विहरति चिरं कोटिकनकैः

तवापर्णे कर्णे विशति मनुवर्णे फलमिदं

जनः को जानीते जननि जपनीयं जपविधौ 6   

                   

चिताभस्मालेपो गरलमशनं दिक्पटधरो

जटाधारी कण्ठे भुजगपतहारी पशुपतिः

कपाली भूतेशो भजति जगदीशैकपदवीं

भवानि त्वत्पाणिग्रहणपरिपाटीफलमिदम् 7                           

मोक्षस्याकांक्षा भवविभव वांछापिचनमे

विज्ञानापेक्षा शशिमुखि सुखेच्छापि पुनः

अतस्त्वां संयाचे जननि जननं यातु मम वै

मृडाणी रुद्राणी शिवशिव भवानीति जपतः 8                        

नाराधितासि विधिना विविधोपचारैः

किं रूक्षचिंतन परैर्नकृतं वचोभिः

श्यामे त्वमेव यदि किंचन मय्यनाथे

धत्से कृपामुचितमम्ब परं तवैव 9                                   

आपत्सु मग्नः स्मरणं त्वदीयं

करोमि दुर्गे करुणार्णवेशि

नैतच्छठत्वं मम भावयेथाः

क्षुधातृषार्ता जननीं स्मरन्ति 10                                      

जगदंब विचित्रमत्र किं परिपूर्ण करुणास्ति चिन्मयि

अपराधपरंपरावृतं नहि मातासमुपेक्षते सुतम् 11                                                     

मत्समः पातकी नास्तिपापघ्नी त्वत्समा नहि

एवं ज्ञात्वा महादेविय

Read More »